Mobile kya hai 2021 जाने पूरी जानकारी हिंदी में

Hello दोस्तों आप सभी का technicalvkv मैं स्वागत है दोस्तों आज हम आपको बताएंगे कि Mobile kya hai जी हां दोस्तों आज के समय में हमारी जिंदगी मोबाइल के बिना अधूरी है मोबाइल हमारे जिंदगी का एक जरूरी हिस्सा बन चुका है आप मोबाइल का इस्तेमाल रोजाना करते हैं तो अगर मैं आपसे पूछो कि मोबाइल क्या है तो शायद आप इसका जवाब सही से नहीं दे पाएंगे लेकिन एक मोबाइल यूजर होने के नाते आपका यह जानना जरूरी है कि आखिरकार Mobile kya hai अगर आप जानना चाहते हैं तो आप इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे कि मोबाइल क्या है? इसका आविष्कार किसने किया मोबाइल का फुल फॉर्म क्या है? मोबाइल का इतिहास और यह काम कैसे करता है? तो चलिए शुरू करते हैं।

 

Mobile क्या है?

 

Mobile एक वायरलेस इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस है जिसकी मदद से यूजर्स आसानी से एक दूसरे से बातचीत कर सकते हैं मोबाइल फोन को Cell Phone, Cellular Phone, और Wireless Phone के नाम से भी जाना जाता है शुरुआती दिनों में मोबाइल फोन का इस्तेमाल सिर्फ कॉल करने और कॉल रिसीव करने के लिए किया जाता था लेकिन आज के समय में मोबाइल का इस्तेमाल लोग वेब ब्राउज़र, संदेश भेजने, गेमिंग, वीडियो रिकॉर्ड, ऑडियो रिकॉर्ड, MP3 प्लेयर और फोटो खींचने के साथ-साथ इंटरनेट की सहायता से ऑनलाइन कार्य में भी मोबाइल का इस्तेमाल करते हैं।

 

शुरुआती समय में मोबाइल का आकार काफी बड़ा होता था जिससे मोबाइल को जेब में रखना मुश्किल था।

 

लेकिन समय के साथ-साथ धीरे-धीरे मोबाइल के आकार और फीचर्स में भी कई बदलाव किए गए और मोबाइल को GSM (Global System For Mobile Communication) नेटवर्क से जोड़ा गया जिससे यूजर टेक्स्ट मैसेज सेंड और रिसीव कर सके वर्तमान समय में मोबाइल फोन में एडवांस फीचर और अच्छी internet सुविधा मिलने के कारण इन्हें स्मार्टफोन कहा कहा जाता है।

 

 

Mobile का Full form क्या है?

 

मोबाइल का Full form कुछ इस प्रकार है।

 

M – MODIFIY

O – OPERATION

B – BYTE

I – INTEGRATION

L – LIMITED

E – ENERGY

 

मोबाइल को हिंदी में दूरभाष यंत्र कहा जाता है।

 

Mobile का आविष्कार किसने किया?

 

Mobile का अविष्कार Martin Cooper ने अप्रैल 1973 में किया था वह एक अमेरिकी इंजीनियर थे और उस समय वह Motorola कंपनी के शोधकर्ता तथा एक्सिक्यूटिव पद पर काम कर रहे थे।

 

दुनिया का पहला मोबाइल फोन Motorola का 1973 में John F. Mitchell और Martin Cooper के द्वारा लांच किया गया था जिसका वजन 2 kg था और कीमत लगभग 2 लाख रुपए थी।

 

इसके बाद आया 1983 मैं मोटोरोला का Dynatac 8000X मॉडल जिसकी बैटरी को एक बार चार्ज करने पर लगभग 35 मिनट तक बात की जा सकती थी और इसकी बैटरी को चार्ज करने में 10 घंटे का समय लगता था।

 

विश्व में पहला Automated Cellular Network जापान ने 1979 में शुरू किया गया था यह First Generation 1G System था जिसकी मदद से कई लोग एक बार में आपस में कॉल कर सकते थे इसके बाद फिनलैंड में 1991 में 2G टेक्नोलॉजी शुरुआत हुई जोकि Radiolinja द्वारा शुरू की गई थी और 1997 में camera वाले मोबाइल की शुरुआत हुई।

 

Tooter App kya hai 2020 || जाने पूरी जनकारि हिंदी मे

Types Of Mobile (मोबाइल के प्रकार)

 

दोस्तों आपने यह तो जान लिया कि मोबाइल क्या है और इसका आविष्कार किसने किया अब हम बात करते हैं कि मोबाइल कितने प्रकार के होते हैं।

 

Basically Mobile तीन प्रकार के होते हैं।

 

Cell Phone

 

सबसे पहले हम बात करते हैं cell phone की तो इस प्रकार के फोन का इस्तेमाल आज से 10 साल पहले हुआ करता था जैसे कि Nokia का फोन इस प्रकार के फोन में हम कॉलिंग के साथ मैसेज भी कर सकते हैं और कैलकुलेशन जैसे काम भी कर सकते हैं।

 

इन Phone को कुछ इस तरह से डिजाइन किया जाता है कि सभी लोग आसानी से इसका इस्तेमाल कर सकें और इन फोन में फीचर्स कम होते हैं जिससे मार्केट में यह मोबाइल सस्ते दामों में मिल जाते हैं।

 

Feature Phone

 

चलिए दोस्तों अब बात करते हैं Future Phone कि तो इस तरह के मोबाइल फोन में आपको एक नॉर्मल cell phone की तुलना में अधिक फीचर्स देखने को मिल जाते हैं जैसे कि इस मोबाइल में आपको कैमरा, ब्लूटूथ, म्यूजिक प्लेयर और इसमें आपको इंटरनेट की सुविधा भी मिल जाती है यानी कि आप इस समय इंटरनेट चला सकते हैं।

 

जैसे कि उदाहरण के तौर पर Jio Phone इसमें आपको स्मार्ट फोन की तरह कई फीचर्स से मिल जाते हैं और मार्केट में यह मोबाइल आपको कम दामों में आसानी से मिल जाता है।

 

Smart Phones

 

अब हम बात करते हैं स्मार्टफोन की तो आज अधिकतर लोगों के पास आपको स्मार्टफोन देखने को मिल जाता है और यह लोगों की पहली पसंद भी बन चुका है क्योंकि इसमें कई सारे एडवांस फीचर यूजर्स को मिल जाते हैं जो कि नॉर्मल मोबाइल में नहीं मिलते हैं।

 

जैसे की 4G speed internet, High graphic, Camera, Wifi, Hospot, बड़ी डिस्प्ले और कई खास फीचर्स मिल जाते हैं।

 

स्मार्टफोन कई ऑपरेटिंग सिस्टम पर आधारित है पर Android और IOS दो सबसे प्रमुख ऑपरेटिंग सिस्टम है।

 

दुनिया में सबसे ज्यादा Smartphone मैं Android ऑपरेटिंग सिस्टम का इस्तेमाल किया जाता है क्योंकि इसमें कम पैसों में अधिक फीचर्स यूजर्स को मिल जाते हैं।

 

मार्केट में Windows और ब्लैकबेरी तो अन्य ऑपरेटिंग सिस्टम भी मौजूद हैं पर इनकी डिमांड एंड्रॉयड और IOS की तुलना में बहुत कम है।

Mobile काम कैसे करता है?

 

दोस्तों आप सब मोबाइल फोन का इस्तेमाल तो करते हैं पर क्या आपको पता है Mobile Phone काम कैसे करते हैं जब आप किसी को कॉल करते हैं तब वह call automatic उसके पास चली जाती है जिसको आपने कॉल लगाया है और जब आप मोबाइल फोन से बात करते हैं तब हमारी आवाज हवा में कैसे दूसरे के पास चली जाती है तो चलिए दोस्तों जानते हैं मोबाइल काम कैसे करता है।

 

Mobile Phone Two Way Signal पर काम करता है जिसमें एक Transmitter Signal और दूसरा Receiver Signal होता है जैसे कि मान लीजिए आपने अपने दोस्त को कॉल किया जब आप कॉल करते हैं तब आपका फोन Signal को Transmit करेगा और आपका दोस्त फोन Receive करेगा।

 

अब दोस्तों होता यह है कि हमारा जो फोन है वह इतनी तेजी से सिग्नल नहीं निकाल पाता है कि जिसको हमने फोन किया है उस तक सिग्नल आसानी से पहुंच जाएं तो दोस्तों अब यहां पर Tower का इस्तेमाल किया गया।

चलिए जानते हैं कि Tower का क्या काम होता है।

 

Mobile टावर्स का काम होता है कि हमारे फोन से जो सिग्नल जा रहे हैं वह पहले टावर के पास जाएंगे

फिर टावर के जो सिग्नल है सिग्नल है वह पहुंचाएगा जहां पर हमने कौन लगाया है।

 

जैसे कि मान लीजिए कि आपने किसी को कॉल किया अब होता यह है कि हमारे फोन के अंदर एक Micro Phone (माइक्रोफोन) लगा रहता है माइक्रोफोन के अंदर हम जो भी चीज बोलते हैं वह Automatically Digital फ्रॉम मैं कन्वर्ट होती जाती है यानी कि 0 और 1 के फ्रॉम मैं आपका जो फोन है वह वॉइस को कन्वर्ट कर रहा है।

 

हमारे फोन में ऊपर की तरफ एक Atenna भी लगा होता है इसका काम होता है कि अभी जो 0 और 1 फ्रॉम में हमारे सिग्नल कन्वर्ट हुए थे उनको वापस से Electromagnetic Wave मैं कन्वर्ट कर देता है क्योंकि अगर यह Electromagnetic Wave मैं कन्वर्ट नहीं होंगे तो टावर तक वह सिग्नल नहीं पहुंच पाएंगे अब आप की आवाज Digital फ्रॉम से होती हुई Electromagnetic Wave मैं कन्वर्ट होते हुए टावर तक चली गई।

 

अब आपने जिस को कॉल किया है उसका जो फोन है वह रिसीवर की तरह काम करेगा अब उसके फोन में जो एंटीना लगा होगा वह Electromagnetic Wave को वापस से डिजिटल फ्रॉम मैं कन्वर्ट कर देगा अब उसके फोन के स्पीकर में आपकी आवाज पहुंच जाएगी यानी कि आप टावर की मदद से एक दूसरे से कम्युनिकेट कर सकते हैं।

 

तो इस तरह से आपका Mobile Phone काम करता है जब आप किसी को कॉल करते हैं तब पीछे बैकग्राउंड में यह पूरी प्रोसेस चलती है यह कुछ सेकेंड में पूरी हो जाती है इसलिए हमें पता नहीं चल पाता।

SEO क्या होता है 2020 जाने पूरी जानकारी हिंदी में

Mobile Phone बनाने वाली कंपनियां?

 

अब हम बात करते हैं मोबाइल फोन बनाने वाली कंपनियां कौन-कौन सी है अभी के समय में मार्केट में बहुत सी कंपनियां मोबाइल फोन बनाती है।

 

  • Samsung
  • Apple
  • Nokia
  • Sony
  • Google
  • LG
  • Motorola
  • Black Berry
  • HTC
  • Alcatel
  • Micromax

 

यह कुछ प्रमुख मोबाइल कंपनियां है जो काफी समय से मोबाइल को मार्केट में लॉन्च कर रही है इनके अलावा भी और भी बहुत सी कंपनियां हैं जो मार्केट मोबाइल लॉन्च करती है यह सभी कंपनियां लोगों की जरूरतों के हिसाब से मोबाइल में बदलाव लाकर एक दूसरे से कंपटीशन करने में लगी है।

 

Smart Phone का भविष्य

 

दोस्तों अब बात करते हैं स्मार्टफोन के भविष्य की तो जैसा कि आपको पता है अभी मार्केट में ऐसे नए नए स्मार्टफोन लॉन्च हो रहे हैं जिनके कल्पना लोगों ने कभी कि नहीं होगी

 

Foldable Smart Phone

 

अभी हाल ही में samsung ने सैमसंग गैलेक्सी फोल्ड स्मार्टफोन मार्केट में लॉन्च किया है यह कंसेप्ट बिल्कुल नया है लोगों ने शायद पहले कभी ऐसे स्मार्टफोन के बारे में सोचा भी नहीं होगा अभी इस स्मार्टफोन का प्राइस बहुत ज्यादा है कंपनी इसे नॉर्मल स्मार्टफोन की प्राइस की प्राइस स्मार्टफोन की प्राइस की प्राइस में उपलब्ध करवाती है तो आने वाले समय में सभी के हाथ में फोल्डेबल स्माटफोन देखने को मिलेंगे।

 

Mobile Ports

 

अभी के समय में Smart Phone मैं आपको Headphone Jack और चार्जिंग पोर्ट देखने को मिलते हैं और अभी के समय में मार्केट में वायरलेस चार्जिंग वाले चार्जर आ चुके हैं जिससे हम बिना किसी पोर्ट और डाटा केबल के बिना ही मोबाइल को चार्ज कर सकते हैं।

 

ऐसे में उम्मीद है कि आने वाले समय में हमें मोबाइल में चार्जिंग पोर्ट और 3.5mm Headphone जैसे जैक देखने को नहीं मिले क्योंकि मार्केट में Wireless Headphone मिलते हैं जो बिना जैक के ब्लूटूथ की मदद से फोन से कनेक्ट हो जाते हैं।

 

आने वाले समय में Wifi, ब्लूटूथ जैसी तकनीक और भी ज्यादा एडवांस हो जाएगी जिससे वायरलेस चार्जर और हेडफोन चार्जर और हेडफोन का इस्तेमाल ज्यादा होगा।

 

इससे हम यह अंदाजा लगा सकते हैं कि आने वाले समय में हमें स्मार्टफोन में एक भी पोर्ट देखने को ना मिले।

 

5G और 6G Technology

 

अभी बहुत से देशों में इस समय 5G चल रहा है भारत में बहुत जल्द 5G लॉन्च हो जाएगा

भविष्य में बहुत जल्द ही हमारे पास भी 5G support स्मार्टफोन होंगे।

 

अभी बहुत सी मैन्युफैक्चरिंग कंपनी इंडिया में 5G मोबाइल पर काम कर रही है और अभी कई 5G फोन इंडिया में launch भी हो चुके हैं।

 

और जैसे ही इंडिया में 5G आता है तो शायद उसके कुछ समय बाद ही 6G Technology भी देखने को मिल जाए।

 

Mobile के फायदे और नुकसान?

 

Mobile के फायदे

 

मोबाइल हमारी जिंदगी का एक जरूरी हिस्सा बन चुका है क्योंकि मोबाइल के द्वारा लोगों से जुड़ने का बहुत ही सरल माध्यम है आज के समय में हम सोशल ऐप की मदद से जैसे कि फेसबुक, व्हाट्सएप इंस्टाग्राम के जरिए हम आप अपने रिश्तेदारों, दोस्तों और अन्य किसी व्यक्ति से कहीं भी कभी भी आसानी से बात कर सकते हैं आपस में एक दूसरे से कनेक्ट हो सकते हैं।

 

आज हम अपने स्मार्टफोन की मदद से बहुत से कार्य घर बैठे आसानी से कर सकते हैं जैसे कि बिजली और पानी का बिल भरना, Tv के बिल का भुगतान करना मोबाइल रिचार्ज करना आदि कार्य आज हम मोबाइल की सहायता से घर बैठे आसानी से कर सकते हैं इसलिए हम कह सकते हैं कि मोबाइल ने हमारे काम को आसान कर दिया है।

 

आज के समय में अधिकतर युवा मोबाइल फोन के जरिए पढ़ाई करते हैं जी हां दोस्तों आज मोबाइल में हमें यूट्यूब और गूगल जैसे प्लेटफार्म मिलते हैं जिनके जरिए हम कुछ भी सीख सकते हैं।

 

आज हम घर बैठे मोबाइल के जरिए पैसे भी कमा सकते हैं और बहुत से युवा मोबाइल फोन से Online काम करके पैसे भी कमा रहे हैं जैसे कि Blogging करके YouTube पर अपना चैनल बनाकर घर बैठे ऑनलाइन पढ़ा कर।

Mobile apps से पैसे कैसे कमाए 2020

मोबाइल से नुकसान

 

चलिए दोस्तों अब हम बात करते हैं मोबाइल फोन के नुकसान के बारे में मोबाइल के बहुत सारे नुकसान भी हैं।

 

आज के समय लोग अपना ज्यादातर समय सोशल मीडिया पर बिताते हैं जिससे वह अनावश्यक रूप से मोबाइल फोन का इस्तेमाल करते हैं।

 

आजकल अधिकतर युवा मोबाइल फोन में लगातार कई घंटों तक गेम खेलते रहते हैं इससे उनका स्वास्थ्य ठीक नहीं रहता है और मानसिक तनाव बढ़ता है।

 

देर रात तक ज्यादा देर तक मोबाइल का इस्तेमाल करने से दैनिक दिनचर्या में फर्क पड़ता है इससे हमारा स्वास्थ्य भी ठीक नहीं रहता है क्योंकि हमारे फोन की ब्राइटनेस आंखों के लिए नुकसानदायक होती है रात के समय मोबाइल का अधिक इस्तेमाल करना हमारे आंखों के के लिए हानिकारक है

 

Mobile का इतिहास

 

सन 1973 में Martin Cooper और John F. Mitchell द्वारा पहला सेलुलर मोबाइल फोन लॉन्च किया गया था इस मोबाइल फोन का वजन 2 किलोग्राम था सन 1979 जापान में सेलुलर 1G लॉन्च किया गया था।

 

पहली जनरेशन के फोन में कॉलिंग की सुविधा थी इसमें सेलुलर एनालॉग टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल हुआ था सन 1983 में Dyana Tac 8000x ने कमरे कमर्शियल रूप में पहला मोबाइल लांच किया था।

 

1991 में 2G सेलुलर टेक्नोलॉजी GSM स्टैंडर्ड के रूप में लांच किया गया था और 10 साल बाद 2001 में तीसरी जनरेशन DOCOMO, WCDMA स्टैंडर्ड के रूप में जापान के द्वारा लांच किया गया।

 

1991 में 2G टेक्नोलॉजी Finland मैं Radiolinja ने शुरू की और फिर उसके पूरे 10 वर्ष बाद 2001 में 3G Mobile जो जापान की कंपनी Ntt DOCOMO ते शुरू की

1983 से 2014 तक 700 करोड़ मोबाइल फोन का इस्तेमाल किया गया।

 

सन 2014 में सबसे ज्यादा मोबाइल फोन बनाने वाली कंपनियां Samsung, Nokia, Apple और Lg जिसमें से 25% Phone Samsung ने बनाए थे और 13% फोन Nokia ने बनाए और अब तक सबसे ज्यादा बिकने वाले फोन Nokia 1100 है जिसके 2003 में लॉन्च होने के बाद लगभग 25 करोड से भी अधिक सेट बेचे गए अधिक सेट बेचे गए।

 

और फिर धीरे-धीरे समय के साथ सा मोबाइल के टाइप्स में परिवर्तन शुरू हो गए और मोबाइल नेटवर्क में भी बदलाव आए।

Zoom app me recording kaise kare

मोबाइल फोन इतिहास की महत्वपूर्ण तिथियां

 

1973 – सन 1973 में Motorola कंपनी के General Manager Martin Cooper मैं किसी भी Device मैं पहली बार Public मोबाइल फोन से कॉल किया था।

 

1992 – सन 1992 मैं United Kingdom मैं पहली बार SMS Message भेजकर इसकी शुरुआत की थी।

 

1999 – सन 1999 में Emoji का आविष्कार हुआ था Emoji का आविष्कार जापान के Shigetakarita ने किया था।

 

2003 – सन 2003 में पहला 3G नेटवर्क कनेक्शन दुनिया ने अपनाया नेपाल वह देश था जिसने सबसे पहले 3G का इस्तेमाल किया था।

 

2007 – सन 2007 में पहला iphone लॉन्च किया गया था।

 

2010 – सन 2010 में Samsung ने पहला Galaxys Smartphone launch किया।

 

2017 – सन 2017 में Nokia 3310 ने अपने पुराने Version को फिर से डेवलप करके नया करके लाया था जिसमें वेब ब्राउजर, कैमरा, कलर स्क्रीन के फीचर यूजर को दिए गए थे।

यह भी पढ़ें

mobile number se gmail id kaise pata kare || हिंदी में

instagram followers kaise badhaye 2020

Jio Phone me Game kaise khele

निष्कर्ष

 

उम्मीद है दोस्तों आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी हमारे द्वारा दी गई जानकारी Mobile kya hai पसंद आई होगी अब आपको मोबाइल फोन के बारे में पूरी जानकारी मिल गई होगी आपको हमारे द्वारा लिखी गई पोस्ट कैसी लगी आप हमें कमेंट करके जरूर बताएं आपको इस पोस्ट से रिलेटेड मन में कोई सवाल हो तो आप नीचे कमेंट करके बता सकते हैं।

Leave a Comment

error: Content is protected !!