Computer Virus kya hai ।। Computer mein kaun kaun se virus computer ke Data ko chatai pahunch aate Hain

Computer virus kya hai

हेलो दोस्तों स्वागत है आपका हमारे इस ब्लॉग में दोस्तों आज की इस ब्लॉग में हम आपको कंप्यूटर से जुड़ी जानकारी देने वाले हैं दोस्तों हमने कई बार देखा होगा कि जब हम कंप्यूटर पर इंटरनेट का यूज करते हैं या कोई एक्सटर्नल डिवाइस कहां है यूज करते हैं तो उसके बाद क्या होता है कि हमारा जो कंप्यूटर होता है उसकी जो परफॉर्मेंस होती है और डाउन हो जाती है या यूं कहें तो उसमें बहुत सारे वायरस आ जाते हैं कौन से वायरस हैं जो हमारे कंप्यूटर को इफेक्ट करते हैं आज इस पोस्ट में हम जानने वाले हैं अगर आपको यह पोस्ट अच्छी लगे तो प्लीज हमें कमेंट करके बताएं तो दोस्तों बिना टाइम्स शुरू करते हैं आज की पोस्ट

वायरस क्या होता है

दोस्तों virus  कितने प्रकार के होते हैं यह जानने से पहले यह जानना जरूरी है कि आखिर यह वायरस क्या चीज है तो दोस्तों वायरस वह प्रोग्राम है जो हमारे कंप्यूटर पर नकारात्मक प्रभाव डालता है यह पर्सनल कंप्यूटर को नियंत्रित कर नकारात्मक विनाशकारी कार्यों को करवाते हैं और स्वता ही अपने आप को सिस्टम में कॉपी कर लेते हैं

वायरस कंप्यूटर के किन-किन हिस्सों को क्षति पहुंचा सकता है?

दोस्तों virus जो होता है वही तरह का प्रोग्राम होता है और वह कंप्यूटर के कई हिस्सों को क्षति पहुंचा सकता है जैसे boot ब्लॉक , सिस्टम एरिया,  ऑपरेटिंग सिस्टम , फाइल्स और अन्य कई तरह के  होती है उनको यह क्षति पहुंचा सकता है

वायरस के प्रकार-

👉Direct action virus

👉Overwrite virus
👉Boot sector virus
👉Macro virus
👉File system virus
👉Polymorphic virus
👉Fat virus
👉Web scripting virus
👉Multipartite virus
👉Resident virus
👉Worms
👉Trojan virus
👉Spyware

वायरस  के बारे में डिटेल में जाने-

Direct action virus

यह वायरस फाइल में होता है और जब उस फ़ाइल का उपयोग किया जाता है तब यह वायरस स्वयं को ओपन कर लेता है यह वायरस केवल उन्हीं फाइल को क्षति पहुंचाता है जिनके फोल्डर autoexec.bat फाइल पात वाले होते हैं

exp. Vienna virus 


Overwrite virus

यह वायरस संक्रमित फाइलें जो होती है उनमें जो डाटा और इंफॉर्मेशन होती है उनको डिलीट कर देता है

exp. way , trivial. 88-D   


Boot sector virus

स्कोर मास्टर बूट सेक्टर वायरस या मास्टर बूट रिकॉर्ड वायरस भी कहा जाता है यह कंप्यूटर के बूट सब होने पर फैलता है क्योंकि यह वायरस हार्ड डिक्स या फ्लॉपी डिस्क के मास्टर बूट रिकॉर्ड के बूट सेक्टर में होता है

exp. –  AnticiExe , parity boot आदि | 


Macro virus

यह वायरस केवल उन्हीं एप्लीकेशन या प्रोग्रामों को क्षति पहुंचाता है जिनमें .doc .xls .pps आदि मेक रोज होते हैं

exp. – Melissa.A , DMV आदि 

File system virus

यह वायरस किसी भी फाइल के डायरेक्टरी पथ को बदलकर मेमोरी सिस्टम में गड़बड़ी कर देता है इससे कलस्टर वायरस के नाम से भी जाना जाता है और इसे डायरेक्टरी वायरस भी कहा जाता है

exp. – Dir-2 virus आदि 


Polymorphic virus

दोस्तों इस वायरस की खास बात यह है कि यह जब भी सिस्टम को क्षति पहुंचाता है तो अपने आप को प्रत्येक बार एन कोड या इंक्रिप्ट करता है इस प्रकार वायरस की कहीं ज्यादा से ज्यादा कॉपियां ऑटोमेटिक तैयार हो जाती है

exp. – ELKern , Tuareg  आदि 


Fat virus

यह वायरस कंप्यूटर की फाइलों की लोकेशन उनके स्थान के बारे में सभी प्रकार की इंफॉर्मेशन को सेव करने के लिए प्रयोग होता है

exp. – लिंक वायरस आदि 

Web scripting virus

कई वेबसाइटों में रोचक सूचियों को डालने के लिए एक हार्ड था कठिन कोड का यूज़ होता है यह वायरस उसी कोट्स को क्षति पहुंचाता है
exp. – JS. Fornight  आदि 

Multipartite virus

यह वायरस कई तरीकों से फैलता है इसका एग्जांपल यह है कि ऑपरेटिंग सिस्टम को इंस्टॉल करने पर वायरस का फैलना है

exp. – Flip , Invader आदि 

Resident virus

यह वायरस अपने आप को कंप्यूटर सिस्टम की मेमोरी में स्थिर कर लेता है और ऑपरेटिंग सिस्टम के चलने पर यह एक्टिव हो जाता है और खोले जाने वाली सभी फाइलों को यह वायरस प्रभावित करता है यह रैम में छुपा हुआ होता है तथा malicious कोड के निष्पादन के बाद वही रहता है

exp. – Randex, Meve आदि 

Worms

वंश एक ऐसा मालवेयर प्रोग्राम है जो दूसरे कंप्यूटर में अपने आप को फैलाने के लिए कॉपी करता है वह उसको ढूंढ पाना बहुत ही कठिन है क्योंकि यह अदृश्य फाइलों के रूप में होते हैं यह कंप्यूटर नेटवर्क में बैंडविथ को नष्ट करके क्षति पहुंचाते हैं

exp. – Bagle , I love you , Nimda , Morris  आदि   

Trojan virus

ट्रोजन वायरस या यूं कहें तो टार्जन हॉर्स एक प्रकार का नॉनसेल्फ रिप्लिकेटिंग मालवेयर है जो किसी भी इच्छित कार्य को पूरा करते हुए प्रतीत होता है परंतु यह यूजर के कंप्यूटर सिस्टम पर अनाधिकृत उपयोग की सुविधा देता है यह कंप्यूटर वायरस की भांति अपने आप को दूसरी फाइलों में सम्मिलित करने का प्रयास नहीं करता है यह सॉफ्टवेयर इंटरनेट चले थे एप्लीकेशन ओं द्वारा टारगेट कंप्यूटर ओं तक पहुंच सकते हैं

exp. – Beast,Sub 7 zeus , Zero Access Rootkit आदि  

Spyware

स्पाइवेयर यह एक तरह का प्रोग्राम होता है जो किसी भी कंप्यूटर सिस्टम में इनस्टॉल होता है जोकि सिस्टम के यूजर की सभी गतिविधियों की निगरानी रखता है और गलत तरीके से आगे प्रयोग होने वाली सभी सूचनाओं को एकत्रित करता रहता है इनका प्रयोग कानूनी या गैरकानूनी उद्देश्य के लिए होता है स्पाइवेयर व्यक्तिगत सूचनाओं को दूसरे व्यक्ति के कंप्यूटर पर इंटरनेट के माध्यम से संचालित कर सकते हैं

exp. – cool web search,zango,keyloggers, zlob Trojan आदि 

वायरस के नकारात्मक प्रभाव-

  1. उपयोगकर्ता के कार्य की निगरानी करना
  2. कंप्यूटरों की दक्षता को कम करना
  3. किसी सेटिंग को बार-बार बदलना
  4. बूट टाइम को बढ़ाना या घटाना
  5. मेमोरी के आकार को बढ़ाना या घटाना
  6. कंप्यूटर नेटवर्क्स या इंटरनेट कनेक्शन को प्रभावित करना

Jio Phone से वीडियो कॉल कैसे करे 2020


निष्कर्ष

दोस्तों आपने इस पोस्ट में जाना कि वायरस क्या होता है वायरस कितने प्रकार के होते हैं और वह वायरस हमारे कंप्यूटर पर किस प्रकार क्षति पहुंचाते हैं और हमारे कंप्यूटर पर वायरस के नकारात्मक प्रभाव क्या पढ़ते हैं तो दोस्तों हमारे द्वारा दी गई आपको यह सामान्य जानकारी कैसी लगी अगर अच्छी लगी हो तो हमें कमेंट करके बताएं और अगर इसमें किसी प्रकार की कोई भी त्रुटि हो तो भी हमें कमेंट करें ताकि आगे हम इसमें सुधार कर पाएं हमारी पोस्ट को पूरा पढ़ने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *