मॉनिटर क्या है(MONITOR KYA HAI) और मॉनिटर के प्रकार | मॉनिटर के पोर्ट

मॉनिटर क्या है और मॉनिटर के प्रकार
MONITOR KYA HE HINDIME

 

अरे दोस्तों स्वागत है आपका हमारे इस ब्लॉग में दोस्तों हमारे ब्लॉक में टेक्नोलॉजी से रिलेटेड जानकारी बताते हैं और आज कुछ जानकारी हम आपको बताने वाले हैं मॉनिटर क्या है MONITOR KYA HAI और मॉनिटर के प्रकार दोस्तों MONITOR के बारे में तो आपने सुना ही होगा जब भी हम कंप्यूटर खरीदते हैं तो उस कंप्यूटर में जो भी हम काम करते हैं तो उसे हम मॉनिटर के  ज़रिए देख सकते  है जो हमारे द्वारा मांगी गई सूचनाओं को प्रदर्शित करता है तो दोस्तों आज इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको इसी TOPIC के बारे में जानकारी देने वाले हैं तो इस पोस्ट को पूरा ध्यान से पढ़ें।
MONITOR एक आउटपुट युक्ति है MONITOR को विजुअल डिस्प्ले यूनिट के नाम से भी जाना जाता है MONITOR कंप्यूटर से प्राप्त रिजल्ट को सॉफ्ट कॉपी के रूप में यूजर को दिखाता है MONITOR दो प्रकार के होते हैं

 

  • monochrome display monitor
  • colour display monitor

monochrome display monitor

तो दोस्तों MONOCHROME DISPLAY MONITOR डिस्प्ले मॉनिटर जो होता है वह MONITOR टेक्स्ट को DISPLAY करने के लिए केवल एक ही COLOR का USE करता है जैसे आपने BLACK AND WHITE  टीवी देखी होगी वह MONOCHROME DISPLAY MONITOR  का एक उदाहरण है।

color display monitor

दोस्तों COLOR DISPLAY MONITOR   जो होता है बस सभी COLOR को दिखा सकता है लगभग 256 COLOR को वह दिखा सकता है

pixel किसे कहते हैं।

MONITOR पर जो GRAPHICS होते हैं वह छोटे-छोटे DOTS से मिलकर बने होते हैं जिन्हें हम PIXEL के नाम से जानते हैं।

MONITOR के features

MONITOR TEXT और GRAPHICS में बहुत सारे रंग को DISPLAY कर सकता है।
MONITOR को जब CPU OUTPUT देता है वह तुरंत इसकी स्क्रीन पर OUTPUT को DISPLAY कर देता है।
MONITOR काफी सस्ता होता है और विश्वसनीय होता है।

resolution

दोस्तों किसी MONITOR का जो RESOLUTION होता है वह उसके क्षेतीज और उर्दवर्धक PIXEL की जो संख्या होती है उसके गुणनफल के बराबर होता है किसी MONITOR कि जो RESOLUTION होती है अगर किसी मॉनिटर का रेगुलेशन बहुत ज्यादा है तो उसके जो PIXEL होंगे वह उतना ही नजदीक होंगे और हमें चित्र बहुत ही स्पष्ट तरीके से दिखाई देगा।

dot pitch

MONITOR के दो कलर्ड PIXEL के विकर्णो के बीच की जो दूरी होती है उसे DOT PITCH  के नाम से जाना जाता है। यदि किसी MONITOR की जो dot pitch है अगर वह कम से कम होगी तो उस MONITOR का RESOLUTION अधिक होगा और उस MONITOR पर जो चित्र होंगे वह बहुत ही स्पष्ट तरीके से दिखाई देंगे।

REFRESH RATE

REFRESH RATE  से तात्पर्य यह है कि एक SECOND में COMPUTER का जो MONITOR है वह जितनी बार REFRESH हो ता है वह संख्या उसकी REFRESH RATE  कहलाती है। ज्यादा से ज्यादा REFRESH करने पर MONITOR की SCREEN पर चित्र अधिक अच्छे और स्पष्ट दिखाई देते हैं।

TYPES OF MONITOR  मॉनिटर के प्रकार

MONITOR  निम्न प्रकार के होते हैं
  1. cathode ray tube CRT
  2. liquid crystal display LCD
  3. light emitting diode LED
  4. 3D monitor
  5. thin film transistor TFT

Cathode Ray Tube CRT

monitor kya hai hindime
crt monitor
CRT MONITOR जो होता है वह एक आयताकार बॉक्स की तरह दिखने वाला MONITOR होता है इससे डेक्सटॉप कंप्यूटर के साथ आउटपुट को देखने के लिए USE करते हैं यह बहुत भारी होता है और आकार में भी बड़ा होता है CRT MONITOR  के SCREEN के पीछे की तरफ फास्फोरस की एक परत लगाई जाती है तथा इसमें एक इलेक्ट्रॉन गन भी होती है CRT MONITOR  में जो ANALOG DATA होता है उसको इलेक्ट्रॉन गन के द्वारा MONITOR की स्क्रीन पर SEND किया जाता है इलेक्ट्रॉन गन जो होती है वह ANALOG DATA  को इलेक्ट्रॉन्स में बदल देती है। इसके बाद जो इलेक्ट्रॉन होते हैं वह ऊर्ध्वाधर तथा क्षितिज प्लेट्स के बीच में होते हुए फास्फोरस स्क्रीन पर टकराते हैं इलेक्ट्रॉन स्क्रीन पर जिस जगह पे टकराते हैं। वहां पर फास्फोरस चमकने लगता है पूरी स्क्रीन पर चित्र दिखाई देने लगते हैं।

Liquid Crystal Display LCD

monitor kya hai hindime
LCD MONITOR
LCD आजकल CRT MONITOR  के बाद बहुत ज्यादा USE में आने आउटपुट युक्ति है यह CRT की अपेक्षा थोड़ी हल्की होती है परंतु यह महंगी होती है इसका जो USE होता है वह BASICALLY लैपटॉप में होता है पर्सनल कंप्यूटर में होता है डिजिटल घड़ियों में होता है और नोटबुक में भी किया जाता है
LCD में दो प्लेट होती हैं
 दोनों प्लेटों के बीच में एक विशेष प्रकार का LIQUID  भरा जाता है जब प्लेट के पीछे से प्रकाश (LIGHT) निकलता है दो प्लेट के अंदर जो LIQUID होता है वह align होकर चमकता है जिससे LCD पर चित्र दिखाई देने लग जाते हैं।

Light Emitting Diode LED

monitor kya hai hindime
LED MONITOR
दोस्तों अब बात करते हैं LIGHT EMITTING DIODE  मतलब LED के बारे में ,LED एक विशेष प्रकार की ELECTRONIC OUTPUT डिवाइस है जिसका USE BASICALLY CPU   से प्राप्त OUT को देखने के लिए करते हैं इसका प्रयोग हम TV देखने के लिए भी करते हैं क्योंकि इसके अंदर छोटे-छोटे LEDs होते हैं LED display मैं light limited diodes लगे होते हैं जब इलेक्ट्रिसिटी इन  LED से गुजरती है तो यह LED चमकने लगती है और LED की स्क्रीन पर हमें चित्र दिखाई देते हैं LED जो होती है वह प्रमुख रूप से लाल LIGHTS को उत्सर्जित करती है किंतु आजकल LED लाल हरा और नीला LIGHTS भी उत्सर्जित कर सकती है यह सफेद कलर का प्रकाश भी उत्पन्न कर सकती है इन सभी कलर के सहयोग से हमें स्क्रीन पर विभिन्न COLOR में चित्र दिखाई देते हैं।

3D Monitor

3D मॉनिटर जैसा कि नाम से ही पता चल रहा है कि यह एक आउटपुट डिवाइस है और3D DIMENSION को देखने के लिए USE किया जाता है 3D monitor जो होते हैं वह 2D monitor की अपेक्षा में अधिक स्पष्ट और साफ चित्र को दिखाता है यदि हम किसी चित्र को 3D MONITOR पर देखते हैं तो हमें ऐसा लगेगा कि यह चित्र एक वास्तविक है ।

Thin Film Transistor TFT

TFT  यानी THIN FILM TRANSISTOR  यह एक आउटपुट युक्ति है TFT में एक PIXEL को कंट्रोल करने के लिए एक से चार TRANSISTOR इसमें लगे होते हैं। TFT को एक्टिव मैट्रिक्स LCD  के नाम से भी जाना जाता है इस पर जो TRANSISTOR होते हैं वह पैसिव मैट्रिक्स की अपेक्षा SCREEN  को काफी तेज और चमकीला वह अधिक कलरफुल बनाते हैं इस आउटपुट डिवाइस की खास बात यह है कि इसकी स्क्रीन पर जो चित्र में दिखाई देते हैं वह हम किसी भी एंगल से देख सकते हैं जबकि दूसरे MONITOR में किसी अन्य एंगल से देखने पर चित्र स्पष्ट रूप से नहीं दिखाई देते हैं TFT  MONITOR दूसरे MONITOR की तुलना में काफी महंगा होता है लेकिन इसकी जो QUALITY होती है वह बहुत अच्छी होती है।

Monitor Cable Technology

MONITOR को CPU से CONNECT करने के लिए निम्न प्रकार की तकनीक प्रयोग में लाई जाती है VGA और DVI  और HDMI  इन तकनीकों के माध्यम से इमेज को MONITOR की SCREEN पर DISPLAY किया जा सकता है।

 

  1. VGA video graphic array
  2. digital video interface
  3. HDMI

VGA

monitor kya hai hindime
VGA PORT
विजय को सर्वप्रथम वर्ष 1987 में IBM कंपनी के द्वारा कंप्यूटर के DISPLAY STANDARD  को प्रस्तुत करने के लिए किया गया था यह एक वीडियो ADAPTER है जिसका USE वीडियो सिग्नल को कंप्यूटर में स्थानांतरित( TRANSFER ) करने के लिए किया जाता है भेजिए में सभी प्रकार के MONITOR हो जैसे CRT LCD LED के साथ कनेक्ट किया जाता है VGA में 15 PIN होती है प्रत्येक 3 तीन खाली तीनों के अतिरिक्त विशेष प्रकार के रंगीन सिग्नल को स्थानांतरित करती है उदाहरण के लिए अगर हम बात करें तो चोथी  PIN  नीले   नवे ( 9) PIN  लाल के सिग्नल को स्थानांतरित करने के लिए निर्धारित की गई है अतः केवल 12 PINS की ही वीडियो ही INFORMATION कंप्यूटर से MONITOR को TRANSFER  करने के लिए होता है display information जो होती है वह ANALOG FORMAT  में VGA  केबल के द्वारा MONITOR तक पहुंचाई जाती है ANALOG FORMAT  एक प्रकार का संकेत होता है जो साउंड वीडियो और डाटा को WIRE तार के द्वारा SEND किए जाते हैं because VGA जो होती है वह वीडियो सिग्नल को TRANSFER करती है। यह डिजिटल MONITOR को प्रयोग करने के लिए पूरी तरह से SPORT  नहीं करती है इसलिए इस समस्या के समाधान के लिए एक नई STANDARD केबल को डिजाइन किया गया जिसे DIGITAL VIDEO INTERFACE के नाम से जाना जाता है।

DIGITAL VIDEO INTERFACE

monitor kya hai hindime
DVI PORT
digital video interface जो होता है वह HIGH SPEED  DIGITAL INTERFACE को प्रदान करता है TMDS GRAPHICS ADAPTER से सिग्नल प्राप्त करता है यह हार्डवेयर उपकरण का एक भाग है जो GRAPHICS तैयार करता है और उसको MONITOR पर DISPLAY भी करता है यह MOTHERBOARD के PCI SLOT पर या AGI SLOT  पर ADD होता है जो MONITOR में प्रयोग होने वाले RESOLUTION और MONITOR की REFRESH RATE  को DECIDE  करता है DVI तकनीक एक लोकप्रिय तकनीक है जो फ्लैट पैनल LCD MONITOR हो और आधुनिक वीडियो ग्राफिक्स कार्ड की गुणवत्ता को बढ़ाता है DVI की जो तकनीक है वह transition minimized differential signaling पे आधारित है । जिसे कंप्यूटर को डिजिटल INFORMATION को SEND करने के लिए बनाई गई है जिसको SILICON इमेज के द्वारा DEVELOPED किया गया है ।

HDMI

monitor kya hai hindime
HDMI PORT
HDMI में हमें वीडियो और ऑडियो को एक साथ TRANSFER किया जा सकता है। HDMI को तकनीकी भाषा में ETHERNET CHANNEL  के नाम से भी जाना जाता है। HDMI को सबसे पहले 2003 में प्रयोग में लाया गया था और अब तक यह कहीं HARDWARE  का एक PART बन गया है। HDMI में TWO WAY COMMUNICATION  होता है।

कुछ महत्वपूर्ण जानकारी MONITOR के बारे में।

 

  • VGA AGP LCD यह सभी प्रकार के MONITOR रंगीन MONITOR होते हैं।
  • सबसे पहले MONOCHROME MONITOR DISPLAY को प्रयोग में लाया गया था।
  • VGA की REFRESH दर 60HZ होती है।
  • CRT का पूरा नाम कैथोड रे ट्यूब है।
  • MONITOR को निम्न कहीं कार्ड से जोड़ा जा सकता है जैसे VGA कार्ड से ,HGA कार्ड से, CGA कार्ड से।
  • RGB शब्द का अर्थ है रेड ग्रीन ब्लू।
  • LCD  तकनीक के मॉनिटर जो होते हैं उनमें पोलराइजिंग फिलर का प्रयोग किया जाता है।
तो दोस्तों हमारे द्वारा दी गई जानकारी मॉनिटर क्या है(MONITOR KYA HAI) और मॉनिटर के प्रकार | मॉनिटर के पोर्ट  आपको कैसी लगी अगर अच्छी लगी हो तो हमें प्लीज कमेंट करके बताएं और अगर किसी भी तरह की कोई भी गलती हो तो भी हमें कमेंट करें ताकि हम उस गलती में आगे सुधार कर सके हमारी पोस्ट को पढ़ने के लिए आपको बहुत-बहुत धन्यवाद यह पोस्ट पढ़ने के बाद आपको मॉनिटर क्या है और मॉनिटर के प्रकार के बारे में जानकारी हो गई होगी अगर अच्छी लगी हो तो इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करें और इसी तरह हमारे साथ बने रहें अगर आपको किसी भी टॉपिक पर जानकारी चाहिए तो प्लीज हमें कमेंट के द्वारा बताएं धन्यवाद।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *